Monday, 10 December 2018

best whatsApp status 2019 in english. best facebook and whatsApp status in english

best whatsApp status 2019 in english. best facebook and whatsApp status in english



New WhatsApp Status
What’s latest for 2019? Old is not so gold when it comes to choosing a WhatsApp status. Therefore, we came up with the new WhatsApp status which will help you to try some unique status. Just copy and paste and make your own WhatsApp before this list become old. Check out this list>
  • Think happy…Be happy.
  • Why is Monday so far from Friday and Friday so near to Monday????
  • The journey is like marriage. The certain way to be wrong is to think you control it.
  • I don’t trust words. I trust actions.
  • Sometimes when I say “ I m Okay” I want someone to look me in the eyes, hug me tight and say, “ I know you’re not”.
  • People with status don’t need status.
  • Every person knows how to love. But only a few people know how to keep the love alive with one person.
  • The best dreams happen when the eyes are opened.
  • My attitude isn’t bad it’s in beta testing.
  • Always remember you are unique, just like everyone else.
  • Childhood is like being drunk, everyone remembers what you did, except you.
  • The toughest part of my job is having to be nice to stupid people.
  • The most painful memory… When I walked away, and you let me go.
  • When God made me, he was just showing off.
  • I fell for you, but you didn’t catch me.
  • Nobody deserves your tears, but whoever deserves them will not make you cry.
  • Every problem comes with a solution, but my GF doesn’t.
  • I am not useless, I can be used as a bad example.
  • Being someone’s first love may be great but to be their last is what’s really important.
  • After Monday & Tuesday, even the calendar says WTF (WhatsApp, Facebook, Twitter).
  • I don’t have a bad handwriting, I have my own FONT. !!
  • Stop waiting for the perfect moment. Take that moment and make it perfect.
  • I wish I could record my dreams and watch them later.
  • HOME – The place where I can look ugly and enjoy it.
  • If you can’t convince them, CONFUSE them.
  • The only difference between a good and bad day is your attitude.
  • When I was born, I was so surprised that I didn’t talk for a year.
  • 80% of guys have girlfriends but other 20% have brains.
  • Keep calm, new DP coming soon.
  • Today is the Status holiday.
  • I don’t get asked out for a date but when I do, it’s 1st April.
  • I’m sorry if I’m changed but you changed too.
  • Please be patient, Even a toilet can handle one person at a time.
  • Mom says no DP…You’ll get marriage proposals.
  • I am sorry but the mistake was yours.
  • It’s pure heaven when you’ve friends as lazy as you are.
  • If you don’t have friends, you don’t live life.
  • What are you looking at my status?
  • Always wrong persons teach you lessons of life.
  • Dream as if you’ll forever.
  • I’m Jealous Of My Parents…I’ll Never Have A Kid As Cool As Theirs!
  • INSULT & WIFE Are Somewhat Similar…They Always Look Good…IF IT IS NOT YOURS…
  • I don’t insult people, I just define them.
  • Every time I try some new status, people start chasing me with scissors.
I Wish My Parents Were Like Google. They Should Understand Me Even Before I Complete.


Tuesday, 27 November 2018

गाय और शेर की ..प्रेरणादायक कहानी ...जय गुरुदेव




एक गाय घास चरने के लिए एक जंगल में चली गई। शाम ढलने के करीब थी। उसने देखा कि एक बाघ उसकी तरफ दबे पांव बढ़ रहा है। वह डर के मारे इधर-उधर भागने लगी। वह बाघ भी उसके पीछे दौड़ने लगा।

दौड़ते हुए गाय को सामने एक तालाब दिखाई दिया। घबराई हुई गाय उस तालाब के अंदर घुस गई। वह बाघ भी उसका पीछा करते हुए तालाब के अंदर घुस गया। तब उन्होंने देखा कि वह तालाब बहुत गहरा नहीं था। उसमें पानी कम था और वह कीचड़ से भरा हुआ था। उन दोनों के बीच की दूरी काफी कम हुई थी। लेकिन अब वह कुछ नहीं कर पा रहे थे। वह गाय उस किचड़ के अंदर धीरे-धीरे धंसने लगी। वह बाघ भी उसके पास होते हुए भी उसे पकड़ नहीं सका। वह भी धीरे-धीरे कीचड़ के अंदर धंसने लगा। दोनों भी करीब करीब गले तक उस कीचड़ के अंदर फस गए। दोनों हिल भी नहीं पा रहे थे। गाय के करीब होने के बावजूद वह बाघ उसे पकड़ नहीं पा रहा था।

थोड़ी देर बाद गाय ने उस बाघ से पूछा, क्या तुम्हारा कोई गुरु या मालिक है?

बाघ ने गुर्राते हुए कहा, मैं तो जंगल का राजा हूं। मेरा कोई मालिक नहीं। मैं खुद ही जंगल का मालिक हूं।

गाय ने कहा, लेकिन तुम्हारे उस शक्ति का यहां पर क्या उपयोग है?

उस बाघ ने कहा, तुम भी तो फस गई हो और मरने के करीब हो। तुम्हारी भी तो हालत मेरे जैसी है।

गाय ने मुस्कुराते हुए कहा, बिलकुल नहीं। मेरा मालिक जब शाम को घर आएगा और मुझे वहां पर नहीं पाएगा तो वह ढूंढते हुए यहां जरूर आएगा और मुझे इस कीचड़ से निकाल कर अपने घर ले जाएगा। तुम्हें कौन ले जाएगा?

थोड़ी ही देर में सच में ही एक आदमी वहां पर आया और गाय को कीचड़ से निकालकर अपने घर ले गया। जाते समय गाय और उसका मालिक दोनों एक दूसरे की तरफ कृतज्ञता पूर्वक देख रहे थे।


 वे चाहते हुए भी उस बाघ को कीचड़ से नहीं निकाल सकते थे क्योंकि उनकी जान के लिए वह खतरा था।

गाय समर्पित ह्रदय का प्रतीक है। बाघ अहंकारी मन है और मालिक सद्गुरु का प्रतीक है। कीचड़ यह संसार है। और यह संघर्ष अस्तित्व की लड़ाई है। किसी पर निर्भर नहीं होना अच्छी बात है लेकिन उसकी अति नहीं होनी चाहिए। आपको किसी मित्र,किसी गुरु, किसी सहयोगी की हमेशा ही जरूरत होती है।

🙏जयगुरुदेव🙏

Monday, 26 November 2018

best facebook status in hindi. Best whatsApp status in hindi. Best Attitude status in hindi. New whatsApp status 2019. Hindi best sayari status in hindi.


नमक स्वाद अनुसार।अकड औकात अनुसार।

********

लगी है मेहंदी पावँ में क्या घूमोगे गावं मे…असर धूप का क्या जाने जो रहते है छावं मे…!!
********

बहुत आसान है पहचान इसकीअगर दुखता नहीं तो दिल नहीं है
******

“गम की परछाईयाँ यार की रुसवाईयाँ,वाह रे मुहोब्बत ! तेरे ही दर्द और तेरी ही दवाईयां ”
*******

चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,आप जो हमें इतना चाहेंगे…..,हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे.
********

हम आते हैं महफ़िल में तो फ़कत एक वजह से,यारों को रहे ख़बर कि अभी हम हैं वजूद में..”
********

“तुझे मुफ्त में जो मिल गए हम,तू कदर ना करे ये तेरा हक़ बनता है”..!!!!!
********
सुना है काफी पढ़ लिख गए हो तुम….
कभी वो भी तो पढ़ो जो हम कह नहीं पाते…!
********
वजह पूछ मत तू मेरे रोने कितेरी मुस्कराहट पे ख़ुशी के दो आंसू गिर गए.
********
काश ! वो सुबह नींद से जागे तो मुझसे लड़ने आए, कि तुम होते कौन हो मेरे ख़्वाबों में आने वाले
********
वो मेरी किस्मत में नहीं,ये सुना है लोगों से,फिर सोचता हूँ,किस्मत खुदा लिखता है लोग नहीं…….
********
तेरी आवाज़ से प्यार है हमेंइतना इज़हार हम कर नहीं सकते .हमारे लिए तू उस खुदा की तरह हैजिसका दीदार हम कर नहीं सकते…..।
********
हमें आदत नहीं हर एक पे मर मिटने की…तुझे में बात ही कुछ ऐसी थी दिल ने सोचने की मोहलत ना दी..
*********
कुछ ऐसा अंदाज था उनकी हर अदा में,
के तस्वीर भी देखूँ उनकी तो खुशी तैरजाती है चेहरे पे !!!!
*******
“पत्थरों से प्यार किया नादान थे हम,गलती हुई क्योकि इंशान थे हम….,आज जिन्हें नज़रें मिलाने में तकलीफ होती हैं,कभी उसी सक्स की जान थे हम…..”
*******
वजह खुबसुरत हो ये ज़रूरी नही ।
पर जो हाथो की लकीरो मे न हो ,उसी को अपनी किस्मत बनाने की ज़िद होनी चाहिये ।
*********
मेरे लफ्जों की पहचान अगर वो कर लेती..उसे मुझसे नहीं खुद से मुहब्बत हो जाती..!!
********
हम ने मोहब्बत के नशे में आ कर उसे खुदा बना डाला;होश तब आया जब उस ने कहा कि खुदा किसी एक का नहीं होता।
*********
आदमी कभी भी इतना झूठा नहीं होता …..!!!
अगर औरतें इतने सवाल न करती…!!
*********
लकीरें भी बड़ी अजीब होती हैं——माथे पर खिंच जाएँ तो किस्मत बना देती हैंजमीन पर खिंच जाएँ तो सरहदें बना देती हैंखाल पर खिंच जाएँ तो खून ही निकाल देती हैंऔर रिश्तों पर खिंच जाएँ तो दीवार बना देती हैं..
*********
खुशीयां तो कब से रूठ गई हैं मुझसे,
काश इन गमों को भी कीसी की नजर लग जाये ।
*********
चिराग से न पूछो बाकि तेल कितना हैसांसो से न पूछो बाकि खेल कितना हैपूछो उस कफ़न में लिपटे मुर्दे सेजिन्दगी में गम और कफ़न में चैन कितना है
********
हम ना पा सके तुझे मुदतो के चाहने के बाद ,ओर किसी ने अपना बना लिया तुझे चंद रसमे निभाने के बाद !!
********
उन से कह दो अपनी ख़ास हिफाज़त किया करे .. बेशक साँसे उनकी है … पर जान तो मेरी है …!!
********
उनके देखे से जो आ जाती है मुँह पे रौनक;वो समझते हैं कि बीमार का हाल अच्छा है।
********
गुमान न कर अपनी खुश-नसीबी काखुदा ने गर चाहा तो तुझे भी इश्क होगा
********
याद हँ मुझे मेरे सारे गुनाह,एक मोहब्बत करली,दूसरा तुमसे कर ली,तीसरा बेपनह कर ली।
********
ज़िन्दा है तो बस तेरी ही इश्क की रहेमत पर
मर गए हम तो समझना तेरा प्यार कम पड़ा रहा था।।
********
“शब्द पहचान बनें मेरी तो बेहतर है,चेहरे का क्या है,वो मेरे साथ ही चला जाएगा एक दिन”…..
*********
उसने पुछा जिंदगी किसने बरबाद की ।हमने ऊँगली उठाई और अपने ही दिल पर रख ली ।।।
*******
बक्श देता है खुदा उनको, जिनकी किस्मत खराब होती है…..वो हरगिज़ नहीं बक्शे जाएंगे जिनकी नियत खराब होती है …..
********
सारी दुनिया की खुशी अपनी जगह …. ..उन सबके बीचतेरी कमी अपनी जगह …..!
********
दर्द की दीवार पर फरियाद लिखा करते हैंहर रात तन्हाई को आबाद किया करते हैंए खुदा उन्हे हमेशा खुश रखना जिन्हेहम तुमसे भी पहले याद किया करते है
********
लोग पूछते है ये कविताएँ कैसे बनी ?मैं कहता हूँ :कुछ आँसू कागज़ पर गिरे और छप गए….
*********
लोग देखेंगे तो अफ़साना बना डालेंगे ………..!
यूँ मेरे दिल में चले आओ की आहट भी न हो .!!!
*********
ज़मीन के उपर मोहब्बत से रहना सीख लोवर्ना ज़मीन के नीचे सुकून से ना रह पाओगे।
**********
मुद्दत से उस की छाँव में बैठा नहीं कोई
वो सायादार पेड़ इसी ग़म में मर गया
– गुलज़ार
*********
गुज़रते लम्हों में सदिया तलाश करता हूँ,ये मेरी प्यास है नदिया तलाश करता हूँ.
यहाँ तो लोग गिनाते है खुबिया अपनी,में अपने आप में खामिया तलाश करता हूँ….!!
**********
पहचान कहाँ हो पाती है, अब इंसानों की ।
अब तो गाड़ी, कपडे लोगों की, औकात तय करते हैं।
*********
बहुत अंदर तक तबाही मचा देता है..
वो अश्क जो आँख से बह नहीं पाता..
*********
मैं उसकी ज़िंदगी से ​चला जाऊं यह उसकी दुआ थी !!
और उसकी हर दुआ पूरी हो यह मेरी दुआ थी !!
*********
जिंदगी आ बैठ, ज़रा बात तो सुन,मुहब्बत कर बैठा हूँ,कोई मशवरा तो दे।
*********
कहते हैं ….ज़िन्दगी काआखरी ठिकानाईश्वर का घर है…!
कुछ ….अच्छा कर लेमुसाफिर ,किसी के घर …खाली हाथ ,नहीं जाते ….!!
********
पी लिया करते हैं जीने की तमन्ना में कभी,डगमगाना भी ज़रूरी है संभलने के लिए।
*********
अजीब है ख्वाइशओ के सिलसिले भी…नसीब से समझोता किए बैठे है…!!
********
जिन्दगी में बड़ा वही बन पाता है जिसे “चुनौतियों” और “चूतियों” से एक साथनिबटना आता हो. ..!!
********
तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,हम ‘जान’ तो दे देते हैं.मगर ‘जाने’ नहीं देते..
********
मैंने अपनी मौत की अफवाह उड़ाई थी,दुश्मन भी कह उठे आदमी अच्छा था…………
**********
जिस तरह से पेड़ काटे जा रहे हैं,वो दिन ज्यादा दूर नही जब‘हरियाली’ के नाम पर सिर्फ ‘लड़कियां’ रह जायेगीं !!!!
********
कोई तो बात हैं तेरे दिल मे जो इतनी गहरी हैं कि–तेरी हँसी तेरी आँखों तक नहीं पहुँचती —
********
न सब बेखबर हैं,न हुश्यार सब,,,ग़रज़ के मुताबिक हैं,किरदार सब…..
********
गुज़र गया दिन अपनी तमाम रौनके लेकर ….ज़िन्दगी ने वफ़ा कि तो कल फिर सिलसिले होंगे ….
*********
मे तोड़ लेता अगर तू गुलाब होतीमे जवाब बनता अगर तू सबाल होतीसब जानते है मैं नशा नही करता,मगर में भी पी लेता अगर तू शराब होती!
*********
“तू पँख ले ले,मुझे सिर्फ हौसला दे दे ।फिर आँधियों को मेरा नाम और पता दे दे”..
********
“हर गम ने ,हर सितम ने ,नया होसला दिया,मुझको मिटाने वालो ने , मुझको बना दिया”..
********
जरुरत तोड देती है इन्सान के घमंड को…,न होती मजबुरी तो हर बंदा खुदा होता…!!!
*********
एय खुदा …तुजसे एक सवाल है मेरा …उसके चहेरे क्यूँ नहीं बदलते ??जो इन्शान ” बदल ” जाते है …. !!
*********
छोड दी हमने हमेशा के लिएउसकी आरजू करना…जिसे मोहब्बत की कद्र ना ह उसे दुआओमे क्या मांगना…
**********
कुछ ना कर सकोगे मेरा मुझसे दुश्मनी करके,
मोहब्बत कर लो मुझसे अगर मुझे मिटाना ही चाहते हो तो…
*********
दिल को इसी फ़रेब में रखा है उम्रभरइस इम्तिहां के बाद कोई इम्तिहां नहीं !!!
*********
सच बोलता हूँ तो टूट जाते हैं रिश्ते,झूठ कहता हूँ तो खुद टूट जाता हूँ.
********
हमारी किस्मत तो आसमान पे चमकते सितारों की तरह है…..
लोग अपनी तमन्ना के लिए हमारे टूटने का इंतजार करते है…….
*********
गिनती में ज़रा कमज़ोर हुं …ज़ख्म बेहिसाब ना दिया करो …!!!
********
हम ने कब माँगा है तुम से अपनी वफ़ाओं का सिलाबस दर्द देते रहा करो “मोहब्बत” बढ़ती जाएगी
*********
मसरुफ रहने का अंदाज आपको तन्हा ना कर दे,रिश्ते फुरसत के नही, तवज्जो के मोहताज़ होते हैं ….
********
वक़्त ने बदल दिया है, कुछ लोगो के दिलो कोवरना हम भी वो थे ,जो दिलो में बसा करते थे .
*********
दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको,हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं.. …
*********
तुम चाहे मर्ज़ी जिस रास्ते से आना,मेरे चारो ओर आज भी सिर्फ मोहब्बत है
********
चुपके से धड़कन में उतर जायेंगे,राहें उल्फत में हद से गुजर जायेंगे,आप जो हमें इतना चाहेंगे…..,हम तो आपकी साँसों में पिघल जायेंगे.
**********
उसकी जीत से होती हे ख़ुशी मुझको….!यही जवाब मेरे पास अपनी हार का था ….
*********
सुकून मिलता है दो लफ्ज कागज पर उतारकर,कह भी देता हूँ और आवाज भी नही होती।।।।
*********
हर चीज़ “हद” में अच्छी लगती हैं—–!!मगर तुम हो के “बे-हद” अच्छे लगते हो-!!
********
क्यूँ सताते हो हमे बेगानो की तरह,कभी तो चाहो चाहने वालों की तरह,
*******
हम मे थी कमी जो आपको हम याद ना आए,आप मे थी कुछ बात जो हम आपको भूल ना पाए
*******
मैं खुल के हँस तो रहा हूँ फ़क़ीर होते हुए.वो मुस्कुरा भी न पाया अमीर होते हुए..
*********
लफ्ज़ वही हैं , माईने बदल गये हैंकिरदार वही ,अफ़साने बदल गये हैं
उलझी ज़िन्दगी को सुलझाते सुलझातेज़िन्दगी जीने के बहाने बदल गये हैं……
**********
जिन्दगी बैठी थी अपने हुस्न पै फूली हुई,मौत ने आते ही सारा रंग फीका कर दिया………..
*********
चमक सूरज की नहीं मेरे किरदार की हैखबर ये आसमाँ के अखबार की है
मैं चलूँ तो मेरे संग कारवाँ चले….बात गुरूर की नहीं, ऐतबार की है..
*********
मैं अपनी चाहतों का हिसाब करने जो बेठ जाऊ तुम तो सिर्फ मेरा याद करना भी ना लोटा सकोगे ….
***********
वो जिसका बच्चा आठों पहर से भूखा हो बता खुदा वो गुनाह न करे तो क्या करे
********
ऐ माँ फिर से मुझे मेरा बस्ता देदे की दुनिया के दिये सबक मुश्किल बहुत है
********
खुबसूरत क्या कह दिया उनको, के वो हमको छोड़कर शीशे के हो गएतराशा नहीं था तो पत्थर थे, तराश दिया तो खुदा हो गए
*********
हमको ख़ुशी मिल भी गई तो कहा रखेगे हम आँखों में हसरतें है तो दिल में किसी का गम
********
किन लफ्ज़ो में बयां करूँ अपने दर्द को सुनने वाले तो बहुत है समझने वाला कोई नहीं
********
अमीर तो हम भी थे दोस्तों,बस दौलत सिर्फ दिल की थी…
खर्च तो बहुत किया,पर गिनती सिर्फ सिक्खों की हुई…….
*********
उसे ये कोन बतलाये, उसे ये कोन समझाए कि खामोश रहने से ताल्लुक टूट जाते है
*********
तुझपे रोज़…. थोड़ा थोड़ा मर जाना…… मेरे जीने का जरिया हो गयायानी……. बूँद बूँद से घड़ा भर गया……..और मैं अब दरिया हो गया………..
********
“अपनी तो ज़िन्दगी है अजीब कहानी है;जिस चीज़ को चाह है वो ही बेगानी है;हँसते भी है तो दुनिया को हँसाने के लिए; वरना दुनिया डूब जाये इन आखों में इतना पानी है.”
*********
रब ने नवाजा हमें जिंदगी देकर;और हम शौहरत मांगते रह गये;
जिंदगी गुजार दी शौहरत के पीछे;फिर जीने की मौहलत मांगते रह गये।
*********
मरने का मज़ा तो तब है,जब कातिल भी जनाजे पे आकर रोये.
********
अगर रुक जाये मेरी धड़कन तो इसे मौत न समझना,अक्सर ऐसा हुआ है तुझे याद करते करते….
********
“होते हैं शायद नफरत में ही पाकींजा रिश्तें,,वरना अब तो तन से लिबास उतारने को लोग मोहब्बत कहते हैं”….!!
********
समंदर के बीच पहुँच कर फ़रेब किया उसने………वो कहता तो सही… किनारे पर ही डूब जाते हम
********
अंदाज़ कुछ अलग ही मेरे सोचने का है,सब को मंज़िल का है शौख मुझे रास्ते का है
*********
इस दुनिया के लोग भी कितने अजीब है ना ….सारे खिलौने छोड़ कर जज़बातों से खेलते हैं…….
*********
वो जान गया हमें दर्द में भी मुस्कुराने की आदत है;इसलिए वो रोज़ नया दुःख देता है मेरी ख़ुशी के लिए।
***********
कदर करनी है, तो जीतेजी करो,अरथी उठाते वक़्त तो नफरतकरने वाले भी रो पड़ते है ।…………..
*********
तुम्हारी नफरत पर भी लुटा दी ज़िन्दगी हमने,सोचो अगर तुम मुहब्बत करते तो हम क्या करते…..
*********
लाख छुपाओ चेहरे से तुम एहसास हमारी चाहत का,दिल जब भी तुम्हारा धड़का है,आवाज़ यहां तकआयी है…!!
*********
इतनी चिंगारी रोज बरसाते हो !सच बतानाबारूद क्या घर में ही बनातेहो ..!!!!!
*********
हम उनकी ज़िन्दगी में सदा अंजान से रहे,औरवो हमारे दिल में कितनी शान से रहे..!!
*********
“इतना भी ना ले मेरा इम्तेहान ऐ सबर ,के मै यू हो जाऊ लाचार और पनाह भी ना दे कब्र” ….
********
“नींद तो बचपन में आती थी ,अब तो बस थक कर सो जाते है ।”
**********
“ये जो मेरे क़ब्र पे रोते है…….अभी उठ जाऊँ ..तो जीने ना दे….. !!
**********
इश्क गरम चाय कि तरह है और दिल पारले जी बिस्कुटकि तरह … हद से ज्यादा डुबाओगे तो टूट जाएगा….”
*********
“जो रहते हैं दिल में, वो जुदा नही होते,कुछ अहसास लफ़्ज़ों में बयान नही होते…..
*******
जिसे शिद्दत से चाहो,वो मुद्दत से मिलता है ..।
बस मुद्दत से ही नहीं मिला कोईशिद्दत से चाहने वाला ..!!?……
********
मेरा खुदसे मिलने को जी चाहता हे।काफी कुछ सुना हे मैंने अपने बारे में।
********
हर एक लकीर, एक तजुर्बा है जनाब,झुर्रियां चेहरों पर, यूँ ही आया नही करती….!!!!
*********
खेरात में मिली हुई खुशी हमे पसंद नही है क्यूंकि हम गम में भी नवाब की तरह जीते है…!!!
*********
मुजे ज़िंदगी से कोई गीला नहींबस, जीसे चाहा वो मीला नहीं ।
*******
मीठा शहद बनाने वाली मधुमक्खीभी डंख मारने से नहीं चुकतीइसलिए होंशियार रहें…बहुत मीठा बोलने वाले भी‘हनी’ नहीं ‘हानि’ दे सकते है
********
तेरी मोहब्बत को कभी खेल नही समजा ,वरना खेल तो इतने खेले है कि कभी हारे नही….!
**********
मोत से पहेले भी ऎक मौत होती हे..!देखो जरा तुम जुदा होकर किसी से..!
**********


Sunday, 25 November 2018

Heart Touching Shayari in hindi. Dil ko chhu lene wali shayari.

Bina libaas ke aaye they is jahaan mein,
Bas ek kafan ki khatir itna safar karna pada ”
*******
Itni shiddat se yaad aye ho,
Jaise phir yaad hi nahin aana..!!
********
Me tumhe kabhi taklif nahi de sakta, lekin tumhare bina jinda rahane ki taklif nahi sahunga me… ye bhi tay he
********
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye,
Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!!
*********
Ab aadat si ho gayi hai is shor bhari zindagi ki,
Takliff to hame yeh jaan leva khamoshi deti hai..!!
********
Na koi gazal na koi nagma na koi geet na koi shayari,
Khol gayi gehre raaz jaana teri yeh khamoshi…!!!
********
Ki mahobat to siyaasat ka chalan chhod diya…
Ham agar pyaar na karte to huqumat karte…
*********
Kitani zalim hoti hai ye pal do pal ki pahechan…
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Na chahte hue b dil ko kisi ka intzar rehta hai…
********
Kisi din bitha k puchhinge teri ankhon se………,
kis ne sikhaya hai inhaien har dil mein utar jana….!!!!
*********
Kuch Toh Kam Hote Ye Lamhey Musibato’n Ke…
Ek Din To Mere Hote Do Din Ki Zindagi Me. . !!
*********
Khushbu ke jajeero se, sitaaro ki hado takIs sahar me sab kuchh hei, bas teri kami hei..
*********
” Uski NAzron KaKhumaar………!!
Ufff……………….!!
Yaqeen Karo,,,!!!
DiL Na Daitay ToJaan Chali Jati..
*********

Har Kisi Ko Apna Banate Rahe Phir Bhi Koi Mera Na Bana…..
Aane Wale Ko Dil Ka Rasta Diya, Jane Wale Ko Khuda Ka Wasta Diya…
*********
Mat kar apne Dard ko shyari mein bayan… !
Log aur toot jaate hain har Lafz ko apna jaan kar…!!
*********
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Pani Se Pyaas Na Bujhi to Maikhane Ki taraf Chal Nikla…
Socha Shikayat Karun Teri Khudha Se, Par Khudha bhi Tera Ashiq Nikla…
********
Tum na mano par haqeeqat hai,Ishq, insaan ki zaroorat hai…
*********
Dhul haalaat ko har baar chataai hei meine,
Me muqaddar to nahi rakhta, zigar rakhta hu…
*********
“Kisi Ne Kya Khoob Kaha” Hai“Alfaaz To Bahut HainMohabbat Bayan Karne Ke Liye..
Par Jo Khamoshi Nahi SamjhSakte, Wo Alfaaz Kya Samjhenge..!!
********
Mohabbat aur Maut dono ki pasand bhi nirali hai,
ek ko Dil chahiye aur dusre ko Dhadkan..
********
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Apni Roshni Ki Bulandi Pe Kabhi Na Itrana Ghalib
Chiraag Sabke Bujhte Hai Hawa Kisi Ki Nahi Hoti…
********
Khwab Sach HO To Manzil Mil Jaati Hai,Yaad Aksar Tasvir me Dhal Jati Hai,
Kisi k Liye Kuch Mango To Dilse Mango Qki1 Dua Se taqdir Badal Jati hai……Great lines,
********
Log kehte h ki kisi ek k jane se hamari zindagi ruk nahi jati,
Par wo ye nahi jante ki lakho k mil jane k baad bhi us ek ki kami puri nahi ho pati….
*********
Talash Kar Raha Hai Woh Hamse Juda Hone Ka Tariqaa,
Sochta Hun Duniya Chor Kar Kyun Na Uski Mushkil Asaaan Kar Doon..
*********
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Yuhi aankhon se ansu bahte nahi,Kisi aur ko hum apna kahte nahi,
Ek tum hi ho jo ruk se gaye ho zindagi mein,Varna rukne ke liye hum kisi ko kahte nahi…
*********
Doob kar suraj ne mujhe aur bhi tanha kar diya
mera saaya bhi alag ho gya, mere apno ki tarah…
*******
“Kaash ke wo mere hote..,
Kaash yeh alfaz unke hote……!!
********
Wo jara si baat pe barso ke yaarane gaye,
Lo chalo achchha huva kuchh log pehchane gaye..
********
Log Apna Banake Chhodd Dete Hai,Barso Ka Rishta Ek Pal Me Tod Dete Hai…
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Humse Toh Ek Phool Bhi Na Toda Jata,Log Toh Dil Na Jaane Kaise Tod Dete Hai!!!!
********
Aaj Maine Talaash Kiya Unn ko Apnae Aap Main…
Woh Mujhay Har Jagha Mile Ek Taqdeer K Siwa…!!!
*******
Apni marzi se bhi chalne de 2-4 kadam aye zindagi….
Tere kehne pe toh barso chal liye….
********
Inhi Baton Se Aksar Bichhad Jaya Karte Hain Log…
Use Kehna Itni Man’maniya Achchhi Nahi Hotin..
********
Nastar hei mere hatho me, kaandhe pe maykada…
Lo… me dard-e-jigar ka ilaaj le kar aa gaya….
********
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Itefaaq samjo ya fir dardnaak haqiqat…
Aankh jab bhi nam hui, vazah tum hi the…
********
Shikhna hoga chiraago ki hifaajat karna….
Aandhio ke to iraade nahi badal sakte ham…
*********
Bina matlab ke to dilaase bhi nahi milte yaha….
Log dil me bhi dimaag liye firte hei is dour me…
**********
Tum haqeeqat pasand ho saayad,
Kabhi khwaab mei bhi nahi aate..!!
*********
Ek hei dono, aash ho ya ummid….
Tadap rahe hai hum tere ek alfaaz ke liye, Khuda ka waasta todd de apni khamoshi hame zinda rakhne ke liye…!! Ek tadapaaye aur ek bahlaaye…
********
He pyaar ki basti me darindo ki huqumat…
Shuli pe chada dete hei ilzaam se pahle…
********
Teri surat ko jab se dekha hei..
meri aankho pe log marte hei..
*********
Din, Mahinay, Salon Ka Hisaab Nahi Aata Mujhe..!!
Hamesha Se Hamesha Tak Saath Tumhara Chahiye…
*********
courier Tere Siwa Bhi Kai Rang Khus Nazar They Magar,,,
Jo Tujh Ko Dekh Chuka Ho Uski Aukaat Hi Kya aur Kuch Dekhe..
*********
Dil ka kya hei, dil ne kitne manzar dekhe hei,
Aankhe paagal ho jaati hei, ek khayaal se pahle…
********
Ham samajte hei mahobat ke takaaje lekin
Keise us dar pe koi swaali ban ke jaaye…
********
Na rone ki sajaa hei na rulaane ki sajaa hei…
Ye dard to mahobat nibhaane ki sajaa hei..
**********
Itni si baat thi jo samandar ko khal gai…kaagaz ki naav keise bhanvar se nikal gai…
********
Mei ladkhadaata raha hu tuje dekh dekh kar….Tune to saamane mere ek jaam rakh diya..!
********
Kin “Lafzon” Mein Bayaan Karun Mein Apne “Dardo” Ko… !!
“Sun ne” Walay Bohat Hain Par “Samajhnae” Wala Koi Nahi…!!
********
Uski Chahat Ne Is Kadar Rula Diya,Hum Khamosh Rahe Usne Kamzor Bana Diya,
Uski Yaad Me Zuk Gaye Hum Warna,Hum To Wo The Jisne Zamana Zuka Diya….
********
Koi milta hai to ab apna pata poochta hu..
Me teri khoj me tujhse bhi pare ja nikla….
********
Chadhi khumaari faaguni, hawa hui almasthar surat lagne lagi, pario si almast…
*********
Ek rang chadha jo kabhi utra hi nahi…
Rang wo dastur ka, rang wo dastur sa..
*********
Jab rango ki mulaaqaat ho….
tab.. bas, teri meri hi baat hi ho…
*********
Dekh ke in nigaaho ko, aarzu e sharaab hoti hei,
Dekha na karo tum eise, meri niyat kharaab hoti hei…
*********
Ye vahem mera ki muje behosh saraab karti hei…
Teri ankhe hi kafi he mujhe behosh karne k liye…
********
Ye vahem mera ki muje behosh saraab karti hei..
Hosh tha hi kab muje, tujse ishq hone ke baad…!!!!
********
Teri yaad se to aachhi meri sharaab hei jaana
kambhakht, rulaane ke baad sulaa to deti hei..
********
Kaun kehta he k sharab barbaad karti he…!!!
Zara apni aankhe bhi chhupa k rakh liya kar…
********
Itna bahot hei, unse nigaah milti rahe…
Ab muje sharaab mat do yaaro , me nashe me hu…
********
Yaha libaas ki kimmat hei, aadami ki nahi..
Muje gilaash bada de, sharaab kam kar de….
*******
Log jo sar-e-aam muje badnaam karte hei…
Akshar wo andheri galiyo me mila karte hei….
********
Aaj shaaki, saraab rahne do,,,Apni aankho me pyaar rehne do,
Tum sanwaaro apni zulfo ko,Meri haalat kharaab rahne do…
*********
Zamane ka sahara to bas ek dikhava hai;
Hakeekat ye hai ke mere Khuda ne mujhe girne nahin diya….
********
Hamne uthate dekhe hei zamin par girte taare bhi…
Par nazaro se girne walo ko kabhi fir uthate nahi dekha..
********
Koi to ab neend se keh de hum se sulah kar le..
Wo dur chala gaya he, jisk liye hum jaga karte the…
********
Chahte Hain Hum Un Ko Khud SeZiyada,
Is Chahat Ki Bhi Wo Waja Poochhti Hain,,,,,!!!
*********
Hai insaan tujhe garv hai na tere dosto par,
Ek din wo hi teri maut par aakar kahenge ab kitni der hai jalane mein…
********
Mere Geet Sune Duniyane MagarMera Dard Koi Na Jaan Saka,
Ek Tera Sahara Tha Dilko,Tu Bhi Na Mujhe Pehchan Saka..
********
Hame unse koi shikayat nahi,Shayad meri takdeer mein hi chahat nahi….
Meri kismat ko likh kar to upar wala bhi mukar gaya,Poocha to bola ye meri likhawat hi nahi….
*********
Mandir mein jaap karta hun, masjid mein adaab karta hun,
Kahin khud ko khuda na samazh baithun, issliyae sharab peekar paap karta hun…
********
Na Ameer Hoon Na Ghareeb
Na Mein Badshah Na MeinWazeer Hun,
Tera Ishq Hai Meri Saltanat
Mein Ussi Saltanat Ka FaqeerHoon..!!
********
Har waqt meri khoj mein rehti hai teri yaad ..
Tu ne mere wajood ki tanhai bhi chheen li.
********
Kis Qadar Anjaan hain yeh Silsila-e-ISHQ waale ..!
Mohabbat Qaayam rehti hai,Magar INSAAN toot jaate hai…
********
“Kis kadar masoom tha lehza unka…dhire se jaan kar bejaan kar gaye!”
********
Tere Alawa Maine Dil Ka, Darwaja Khola Hi Nahi…!
Warna Bohat Chand Aaye, Iss Ghar Ko Sajane Ke Liye.!
********
Mere hatho me baki hei rang thoda…Aaj bhi use talaash hei tere gaalo ki….
*********
Meri gazalo ko talaas thi kisi vaaris ki…
Kal raat dil ne tere naam ki sifaaris ki…
********
Zaroori to nahi jo khushi de usi se mohabbat ho,.
Pyar to aksar dil todne walon se bhi ho jata hai…
********
Main Lafz Soch Soch Kar Thak Sa Gaya…,
Wo Phool De Ke Baat Ka Izhaar Kar Gayi…
*********
Teri yaadein bhi hain mere bachpan ke khilone jaisi,
Tanha hota hu to inhe le kar baith jati hu….!!
*********
Kis Tarah AayeGa Qaraar Mujhe…!!
Us Ne Dekha Hai Baar Baar Mujhe…
********
Wafa ki talaash tou aksar bewafaon ko hoti hay…!!
Hum ne to dunya hi chhod di kisi ki wafa kay liye…
********
YA ALLAH
Mujh Ko Aisa Bana De K Tujhe Pasand Aajaon….
*******
Maa K Liye Sab Ko Chhod Dena,Lekin Sab K Liye Maa Ko Mat Chhodna.
Kyo K Jb Maa Roti Hai To Farishto Ko Bhi Rona Aa jata Hai.
********
Log holi k din Rang lagate hai.. or baaki k din Rang badalte hai..
********
Kuchh yu badal rahe hei ham waqt ke saathKi aayina bhi chounk jaate hei ham ko dekhkar
********
Mat tol meri wafa apni dillagi se..!!
Dekh kar meri chahat ko akshar tarazu tut jaate hai..!!
**********
Mujhe jeene ki koi aas de jao tumYa phir meri zindagi hi ban jao tum..!
*********
Wo paas beithe to aati hei dilruba khushbu..Wo apne hontho pe khilte gulaab rakhte hei..
********
Aandhiya gamo ki chalegi to sanwar jaungaMei to dariya hu, samandar me utar jaunga…
*********
Furasate dhundhte hei chalo, kuchh palo ki,kuchh tumhaare liye.. kuchh hamaare liye..
**********
Tumhara Naam Lene Se Mujhe Sab Jaan Jaate Hai..
Main Wo Khoyi Hui Cheez Hoon Jiska Pata Tum Ho..!
********
Jahan rishte hawaon ki tarah behne ke aadi hon.
Wahan apne to hote hain par apna pan nahi hota..
*********
Phir Us Ke Baad Jab Chaho Jahan Chaho Jana Chaho Chale Jana.
Meri , Sansein , Bikharne Tak To Meri Reh Jao ….
*********
Dard bhi deta hei, dawaa bhi deta hei..Muje wo dosti karne ki sajaa bhi deta hei…
********
Juthe waade, juthi qasme aur ye fareb…tum siyaasat me hote to kamaal karte….
********
Mere Rooth jany se..!! Ab un Ko Koi Farq Nai padta..!!
BE’Chain Kar Deti Thi..!! Kabi jin Ko Khamoshi meri..!!
*********
Mat Chheen Apna Naam Mere Lab Se Is TarahIs Be Naam Zindagi Mein Tera Naam Hi To Hai..
*********
Lanat hai tumhare husn par ae hasino…
Hame nashe k liye shraab bhi peeni padti hai ..
********
Ye Mohabbat Bhi Ek Nasha hai Sharaab Jaisa,
Karein To Mar Jaayein Chhorein To Kidhar Jaayein…!!!!
********
Unke bina chaand bhi eise nazar aata hei…
Koi zakham ho jeise aashmaan ke sine mei..
*********
Bhul jaau to jee nahi saktaYaad aao to dam nikalta hei..
*********
Saza do, sila do, bana do, mita do..Magar wo koi faisalaa to suna do..!
********
Bewafa Hoke Jab Chal Hi Diye The Chhod Ke …
Kyon Mil Jaate Ho Kabhi Is Mod Pe, Kabhi Us Mod Pe …???
*********
Koi tuj sa nahi hai
Tu sab se haseen hai..
***********
Bahut Yaad Krta Hai Koi Hmain Dil Se…..,
Na Jane Dil Se Ye weham Kyun Nahi Jata…!!!!!
**********
Tumne to kaha thaa k har shaam tumare saath gujarenge….
Tum badal gaye ya tumhare saher me shaam hi nahi hoti..!!!
**********
Uthne de jo uthta hei dhuaa dil ki gali se,wo basti kaha hei jaha koharaam nahi uthta..
*********
Ki baal bikhra ke kisi turbat (kabr)pe koi mehzabin roti hai..
To aksar ye khayaal aata hai maut kitni hasee hoti hai..!!!
*********
Koi ek pal ho to… nazare chura le hum
Ye tumhari yaad to.. saanso ki tarah aati he.
********
Sar is liye uncha hei ki kad uska bada hei…
Kad is liye uncha hei ki laasho pe khada hei….
*********
Teri yaad bhi kisi muflish ki punji jaisi hei…
Jise ham sath rakhte hei, jise roj ginte hei…
*********
Wo tab-bhi tha,ab-bhi hai,yunhi rahega….ye ROOHANI mohhobat hai,Taa’alim nhi k mukkammal ho jaye….
***********
Taqdeer Ka Hi Khel Hai Sab….. ,Par ,Khwahishe samajti Hi Nahi……!!
*********
Sazaa Ban Jaati hai Guzre huwe waqt ki Yaadein….!!
Na jaane Kyu Matlab ke Liye Meherbaan Hote Hai Log…..!
********
Q Na Saza Milti Humain… Muhabbat Me……!!!!
Aakhir Hum Ne B To Bohat… Dil Tode Teri Khatir.
********
Mohabbat aisa dariya hai…barish ruk bHi jaye…to pani kam Nhi hota…
**********
Chamka Na Karo Jugnu Ki Tarha Raat Ko…Le jaon Ga Mutthi Main Kisi Roz Chupa Kar…
**********
Tum pe kuch aitbar tha warna
Koi dil yun udhar deta hai bhala.!!
********
Waqt ko gujrte waqt nahi lagta,waqt milne par bhi waqt nahi milta,
Ham to waqt nikalkar aapko yaad karte hai,Aapko to waqt nikalne ke liye bhi waqt nahi milta…
********