दोस्तों हमें अपने आप पर विश्वास होना चाहिए और साथ में दूसरों के प्रति सम्मान  के भाव होना चाहिए क्यूंकि जो दूसरों को सम्मान  देते है ,  वो असल में वो स्वयं  सम्मानजनक होते है! 
 इसी प्रकार मनुष्य दूसरो को वही दे पाता है,जो उसके पास होता है।*


 कभी भी हमे अपने घमंड से अपना सर ऊँचा नहीं करना चाहिए , क्यूंकि जीतने वाले भी अपना गोल्ड मैडल सिर झुका के हासिल करते हैं...

 दोस्तों हमें अपने माता पिता का सम्मान करना चाहिए उनकी सेवा करनी चाहिए , जैसे बंद किस्मत के लिये कोई ताली नही होती।सुखी उम्मीदों की कोई डाली नही होती। जो झूक जाए माँ -बाप के चरणों में । उसकी झोली कभी खाली नही होती! 
     
न  जाने कितनी अनकही बातें साथ ले जाएंगे.. .लोग झूठ कहते हैं कीं., खाली हाथ आए थे., खाली हाथ जाएंगे.. . ..आदत बना ली मैंने खुद को तकलीफ देने की,ताकि जब कोई अपना तकलीफ दे तो ज्यादा तकलीफ ना हो !!"ऐब" भी बहुत हैं मुझमें, और "खूबियां" भी बहुत है...अब ढूँढने वाले तू सोच, कि तुझे चाहिए क्या मुझमें...कितना भी  .....खुश रहने की  ....कोशिश कर लो, ....

जब कोई  ....बेहद  याद आता है .....तो सच मे बहुत रुलाता है...आरज़ू होनी चाहिए किसी को याद करने की……!लम्हें तो अपने आप ही मिल जाते हैं,
कौन पूछता है पिंजरे में बंद पंछियों को,याद वही आते है जो उड़ जाते है…!!*


गुज़र जाते हैं खूबसूरत लम्हें ,*यूं ही मुसाफिरों की तरह .*यादें वहीं खडी रह जाती हैं ,रूके रास्तों की तरह .*

एक *"उम्र"* के बाद *"उस उम्र"* की बातें उम्र भर"* याद आती हैं ,
पर *"वह उम्र"* फिर *"उम्र भर"* नहीं आती ....*सड़क कितनी भी साफ हो*"धूल" तो हो ही जाती है इसान कितना भी अच्छा हो*"भूल" तो हो ही जाती*


मैं अपनी 'ज़िंदगी' मे हर किसी को*  *'अहमियत'* देता हूँ...    क्योंकि *'अच्छे'* होंगे वो *'साथ'* देंते है और जो *'बुरे'* होंगे वो *'सबक'* देंगे...!! जिंदगी जीने के लिए *सबक* और *साथ* दोनों जरुरी होता है।


भरोसा खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है , और दूसरों पर रखो तो कमजोरी बन जाती है! आप कब सही थे इसे कोई याद नहीं रखता है , लेकिन आप कब गलत थे यह सब याद रखते है!


 संसार में कोई भी व्यक्ति ऐसा नहीं है जिसको कोई समस्या न हो , और संसार में कोई ऐसी समस्या नहीं है की जिसका कोई समाधान न हो! मतलब जितनी समस्या उतना ही समाधान है संसार में!

मंजिल चाहे कितनी भी ऊँची क्यों न हो रास्ते हमेशा , पैरों के नीचे ही होते है!
        

0 Comments: