'बापू' का सपना 'स्वच्छ भारत' एक विशेष लेख.





नमस्कार दोस्तों आज की पोस्ट में हम स्वच्छ भारत अभियान के बारे में पूरी जानकारी लेकर आये है! इसकी शुरुआत कब से हुई? इसका प्रमुख्य उद्देस्य क्या है? इससे हम केसे जुड़ सकते है? यह हमारे लिए क्यों जरूरी है? ..आदि सवालों के बारे में जानेंगे तो दोस्तों आप भी इस अभियान के बारे में जानना चाहते है तो दोस्तों हमारे साथ बने रहे ..धन्यवाद् ...क्यूंकि इतना कीमती समय दे रहे हो ....अब समय बर्बाद नहीं करते हुए इसकी पूरी जानकारी आपको बता ही देता हूँ! 


स्वच्छ भारत अभियान क्या है? 

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत भारत सरकार ने राष्ट्रीय स्तर अभियान के रूप में की है , इसका प्रमुख उद्देश्य सड़क , कस्बे , गांव और छोटे बड़े शहर को स्वच्छ और साफ सुथरा रखना है!  





स्वच्छ भारत अभियान राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के जन्मदिवस 02 अक्टूम्बर को 2014 को आरम्भ किया गया! राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी ने देश को आजादी दिलाई लेकिन उनका सपना पूरा नहीं हुआ था जिसका नाम है 'स्वच्छ भारत'! 


राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने अपने आसपास के लोगों को स्वच्छता बनाये रखने सम्बन्धी सन्देश दिया था एवं इस सन्देश को मतलब स्वच्छ भारत अभियान को जागरूक करने की सलाह दी थी तथा स्वच्छता सम्बन्धी शिक्षा प्रदान कर राष्ट्र को एक उत्कर्ष सन्देश दिया था! 

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत और इससे वेबसाइट पर जाकर आप जुड़ सकते है! 

तिथि- 02 अक्टूम्बर 2014 

स्थान- नई दिल्ली , भारत 

वेबसाइट- http://swachhbharat.mygov.in/





इसका प्रमुख्य उद्देस्य क्या है? 

दोस्तों स्वच्छ भारत अभियान का उद्देश्य व्यक्ति , क्लस्टर और सामुदायिक एवं सार्वजानिक शौचालयों का निर्माण करने के माध्यम से खुले में सोच की समस्या कम करना है या फिर जड़ से ख़त्म करना है! स्वच्छ भारत मिशन लेट्रिन या टॉयलेट को बनवाने के बाद इसके उपयोग करने की निगरानी की जाएगी! 


भारत सरकार ने 2 अक्टूम्बर 2019 तक यानी महात्मा गाँधी के जन्मदिवस की 150 वी वर्षगांठ तक भारतीय ग्रामीण में 1.96  लाख करोड़ रूपये की अनुमानित लागत के 1.2 करोड़ शौचालयों का निर्मांण करके खुले में सोच की कुप्रथा या खुले में सोच करने की आदत से भारत को मुक्त कराना है! इसका लक्ष्य ओडीएफ को हांसिल करना रखा गया है! 

सही मायने में इसकी शुरुआत कब हुई?

दोस्तों यदि बात करे स्वच्छ भारत अभियान की तो यह आधिकारिक रूप से शुरू किया गया! भारत सरकार ने स्वछता का पुनर्गठन किया और स्वछता अभियान की शुरुआत किया जिसका बाद में 1 अप्रेल 2012 को तत्कालीन प्रधानमन्त्री मनमोहन सिंह द्वारा निर्मल भारत अभियान एनबीए नाम दिया! 

निर्मल भारत अभियान एक प्रकार से कार्यक्रम था जो की वर्ष 1999 से वर्ष 2012 तक पूर्ण रूप से स्वच्छता से सिद्धांतों को आधार बना कर पूर्ण रूप से चलाया गया! 




फिर हुई ग्रामीण क्षेत्रों में सुरुआत!

सरकार ने 2 अक्टुम्बर 2019 तक भारत के सभी गांव में सौचालय बनवाने की शुरुआत की गई! प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी में अपने 2014 के भाषण में स्वतंत्रता के उपलक्ष्य शौचालय के विषय इसकी  जरूरत के बारे में बताया! 

क्या हमें कभी दर्द हुआ है कि हमारी मां और बहनों को खुले में शौच करना पड़ता है? गांव की गरीब महिलाएं रात की प्रतीक्षा करती हैं; जब तक अंधेरा नहीं उतरता है, तब तक वे शौंच को बाहर नहीं जा सकतीं हैं। उन्हें किस प्रकार की शारीरिक यातना होती होंगी, क्या हम अपनी मां और बहनों की गरिमा के लिए शौचालयों की व्यवस्था नहीं कर सकते हैं?

प्रधान मंत्री मोदी ने 2014 के जम्मू और कश्मीर राज्य चुनाव अभियान के दौरान स्कूलों में शौचालयों की आवश्यकता के बारे में भी बताया:- 

जब छात्रा उस उम्र तक पहुंचती है जहां उसे पता चल जाता है कि स्कूल में महिला शौचालयों की कमी के कारण उसने अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ दी है और इस कारण जब वे अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ देते हैं तो वे अशिक्षित रहते हैं। हमारी बेटियों को गुणवत्ता की शिक्षा का समान मौका भी मिलना चाहिए। 60 वर्षों की स्वतंत्रता के बाद प्रत्येक स्कूल में छात्राओं के लिए अलग शौचालय होना चाहिए था। लेकिन पिछले 60 सालों से वे लड़कियों के लिए अलग-अलग शौचालय नहीं दे सके और नतीजतन, महिला छात्रों को अपनी शिक्षा को बीच में छोड़ना पड़ता था! -नरेंद्र मोदी




प्रचार के लिए इन लोगों को चुना गया! 

सचिन तेंडुलकर
प्रियंका चोपड़ा
अनिल अंबानी
बाबा रामदेव
सलमान खान
शशि थरूर
तारक मेहता का उल्टा चश्मा की टीम
मृदुला सिन्हा
कमल हसन
विराट कोहली
महेन्द्र सिंह धोनी
ईआर. दिलकेश्वर कुमार 

साफ शहरों की सूची में बनाई गयी! 

दोस्तों  भारत सरकार ने 15 फरवरी 2016 को सफाई की सूची बनाई गयी!  सफाई सिलेक्शन 2016 में 73 शहरों की लिस्ट बनाई गयी! 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों का सर्वे किया गया की वह कितने साफ है या कितने गंदे शहर है! 

टॉप 10 शहर की लिस्ट में इन शहरों के नाम! 

1.इंदौर (मध्य प्रदेश)
2.चंडीगढ़
3. तिरुचिरापल्ली (तमिलनाडु)
4.नई दिल्ली
5.विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश)
6.सूरत (गुजरात)
7.राजकोट (गुजरात)
8.गंगटोक (सिक्किम)
9.पिंपरी चिंचवड (महाराष्ट्र)
10.ग्रेटर मुंबई (महाराष्ट्र)





 
इस दौरान की जाने वाली गतिविधियों में शामिल हैं-

स्कूल कक्षाओं के दौरान प्रतिदिन बच्चों के साथ सफाई और स्वच्छता के विभिन्न पहलुओं पर SBAविशेष रूप से महात्मा गांधी की स्वच्छता और अच्छे स्वास्थ्य से जुड़ीं शिक्षाओं के संबंध में बात करें।



कक्षा, प्रयोगशाला और पुस्तकालयों आदि की सफाई करना।
स्कूल में स्थापित किसी भी मूर्ति या स्कूल की स्थापना करने वाले व्यक्ति के योगदान के बारे में बात करना और इस मूर्तियों की सफाई करना।
शौचालयों और पीने के पानी वाले क्षेत्रों की सफाई करना।
रसोई और सामान ग्रह की सफाई करना।
खेल के मैदान की सफाई करना
स्कूल बगीचों का रखरखाव और सफाई करना।
स्कूल भवनों का वार्षिक रखरखाव रंगाई एवं पुताई के साथ।
निबंध,वाद-विवाद, चित्रकला, सफाई और स्वच्छता पर प्रतियोगिताओं का आयोजन।
'बाल मंत्रिमंडलों का निगरानी दल बनाना और सफाई अभियान की निगरानी करना। 





दोस्तों यदि यह जानकरी आपको अच्छी लगी या फिर किसी लगी अथवा आपके मन में कोई भी सवाल हो तो आप बेजिझक नीचे कमेंट करके पूछ सकते है में आपको इसका तुरंत जवाब दूंगा और यदि आपको यह जानकारी अच्छी तो आप ने किसी भी आइकॉन पर क्लिक कर के वाट्सअप फेसबुक और भी साइट पर शेयर कर सकते हो! 







0 Comments: