दूसरों के अहसान को याद रखिये!





फ़्रांस का महान सम्राट नेपोलियन (Napoleon), जिसे हमेशा अपनी बहादुरी, ईमानदारी और दृढनिश्चय के लिए याद किया जाता है, सामान्य लोगो, अपने सेनिकों के साथ भी बड़ी सहजता और सरलता से पेश आता था। नेपोलियन में कई उच्च मानवीय गुण थे जिससे वह जानता में लोकप्रिय नायक की तरह बन गया।

यह कहानी उसकी मानवीयता, दया और अपने पर किये एहसान को याद रखना और उसकी कीमत चुकाने के बारे में है।




नेपोलियन ने बचपन में बहुत गरीबी देखि थी, कई बार उसके पास खाने के लिए पैसे नहीं होते थे, उसके स्कूल के बहार ही एक औरत फल और खाने की चीजें बेचा करती थी ।

कभी कभी एसा भी होता की नेपोलियन की जेब में एक सिक्का भी नहीं होता था, ऐसे में वो उस औरत से खाने की चीजें मजबूरी में उधार ले लिया करता और पैसे आने पर उसे ईमानदारी से लोटा देता। वह औरत भी नेपोलियन पर विश्वास कर उसे ख़ुशी खुसी उधार दे देती।




जीवन में आगे चलकर, अपनी योग्यता, मेहनत, धुन और महत्वकांक्षा के ज़रिये नेपोलियन फ़्रांस की सेना में एक सामान्य सेनिक से एक अफसर, फिर सेनापति और अंत में फ़्रांस का सम्राट बन गया! सम्राट बनने के बाद जब वह अपने पुश्तेनी गांव पहुंचा तो उसने लोगों से उस औरत का पता पुछा और उसके घर पर उससे मिलने गया।नेपोलियन ने उस औरत से पुछा “मेम, क्या आप मुझे पहचानती हैं?”

उस वक़्त नेपोलियन ने फोजी जनरल की वर्दी पहन रखी थी, जिसे देखकर वह औरत थोड़ी सहम गयी फिर उसने विस्मय से कहा “नहीं, माफ़ कीजियेगा में आपको नहीं जानती!?




नेपोलियन ने प्यार से मुस्कुराते हुए कहा “आप मुझे भूल गयीं हों, पर वह छोटा लड़का आपको अभी तक नहीं भूला है जिसे आप खुशी ख़ुशी उधार दे दिया करतीं थी” ।

यह कहकर नेपोलियन ने उस बूढी औरत को सिक्कों से भरी एक थेली उपहार में दी।





दोस्तों, हमेशा उन लोगों को याद रखिये जो आप पर एहसान करतें है, जो आपकी मदद करतें हैं, हमेशा उनका एहसान चुकाने की कोशिश कीजिये! फ़्रांस में सम्राट तो कई हुए होंगे पर क्या किसी को उनका नाम तक याद है? लेकिंग नेपोलियन को इन्ही इंसानियत के गुणों के लिए हमेशा याद किया जाता रहेगा!





0 Comments: