Friday, 20 July 2018

ध्यान कैसे करे? यह क्यों जरूरी है?


दोस्तों आज के हिन्दीवाचार ब्लॉग में आपको हम ध्यान यानी Meditation के बारे में पूरी जानकारी बताने जा रहे है , जिसमे आप जानेंगे ध्यान क्या है?  ध्यान कैसे करे? ध्यान हमारे लिए क्यों जरूरी है!

ध्यान कैसे करे

आज की हमारी यह पोस्ट Meditation Techniques in Hindi | ध्यान कैसे करे  आपको ध्यान के बारे में जानकारी देने के लिए ही है इस पोस्ट को हर Age Group को ध्यान में रखकर लिखा गया है .Students  जिनको लगता है उनका मन पढ़ाई में नहीं लगता इस Mediation Technique के ज़रिये उन्हें पढ़ने में मदद मिलेगी, Concentration बढ़ेगा . Tanagers जिन्हें  लगता है वह decide नहीं कर पाते उन्हें जीवन में क्या करना है , या decision नहीं ले पाते उन्हें भी Meditation Technique से decision making  में help मिलेगीऔर वह age  group जिन्हें जीवन में Peace, self realization  , Self awareness , Live in the Present Moment चाहते है उन्हें भी Meditation Techniques in Hindi इस post से इन सभी aims को पाने में मदद मिलेगी.दोस्तों लेकिन यह सब Result पाने के लिए  आपको  20 मिनट Meditation daily कम से कम २ Months तक करना पड़ेगाहोगा . उसके बाद आपको results दिखने लगेंगे . आप चाहे तो शुरुआत में 10 minutes से Meditation शुरू कर सकते हैं .आदमी को अपनी age के बराबर Meditation एक दिन में  करना चाहिए जैसे अगर आपकी age २० साल है तो आपको 1 दिन में 20 मिनट Meditation करना चाहिए .
Meditation Tips in Hindi

अपनी इस पोस्ट Meditation Techniques in Hindi  में हम cover करेंगे
ध्यान क्या है  What is Meditation?
ध्यान कैसे करे How to Meditate
ध्यान के फायदे Benefits Of Meditation
ध्यान क्या है ( What is Meditation )

ध्यान Meditation है अपनी सोई हुई शक्तियों को जगाना . अपने दिमाग का पूरा इस्तेमाल करना . Science के अनुसार हम अपने दिमाग का मात्रा 2% भाग ही use करते है .
साधारण शब्दो में माना ले हमारे हाथ में कुछ राइ के दाने है हमने उन दानो को ज़मीं पर बिखेर दिया ..अब उन दानो को हमें समेटना है ,इसी तरह हमने अपने दिमाग को कई जगह बिखेर दिया है Meditation वह माध्यम है  जिसके ज़रिये हम अपने दिमाग को जो कई जगह बिखर चूका है उसे उन जगहों से हटाकर उस जगह लगाना जहां हम लगाना चाहते है . वह जगह कुछ भी हो सकती है , कुछ लोग के लिए वह जगह भगवान है , कुछ के लिए बिज़नस , कुछ के लिए पढ़ाई आदि .

spiritual गुरु Osho के अनुसार – ध्यान Meditation  अपने भीतर को साफ करने की प्रकिया  है, ताज़ा और युवा होने का प्रयास है, जीवन को पूरी तरह जीने का प्रयास है । यदि तुम ध्यान से डरते हो तो इसका मतलब है कि तुम जीवन से डरते हो, तुम अवेरे होने से डरते हो, और यदि तुम बिल्कुल प्रतिरोध नहीं करते, तो हो सकता है यह इसलिए है कि तुम ध्यान को गंभीरतापूर्वक नहीं लेते, तुम ध्यान को ईमानदारी से नहीं लेते।”
ध्यान कैसे करे  ( How to Meditate )
शुरुआत में १० मिनट से Meditation शुरू करे .
Meditation करने के कुछ आसान तरीके

1. किसी शांत जगह पर आराम से बैठ जाये कोई सॉफ्ट म्यूजिक चला ले और अपनी सांसो को काउंट करे . शुरुआत में ऐसा १० मिनट करे और धीरे धीरे समय बढाकर २० मिनट करे .

2. आप अपने घर पर किसी दीवार पर कोई पॉइंट बनाकर उसे लगातार १० मिनट तक देखे . यह भी ध्यान का अच्छा तरीका है

3. शुरुआत में ध्यान करने के लिए आपका दिमाग का शांत होना बहुत ज़रूरी है . मन  में क्रोध , जलन होने पर ध्यान पॉसिबल नहीं है

4. हर काम जो भी आप कर रहे है उसे पुरे कंसंट्रेशन से करे. देखते रहे कही आपका दिमाग कुछ और तो नहीं सोचने लगा .

5. सुख आसान में बैठ कर अपने शरीर के हर अंग को तनाव मुक्त करे . और महसूस  करे की आपका मन और शरीर से सब तनाव साँस  के साथ  बहार  निकल रहा  है .और अगर शरीर के किसी भी अंग में दर्द  करता  हो  या कोई बीमारी  हो  तो कल्पना  करे की आपका दर्द  पैरो  के रस्ते  शरीर से बाहर  निकल  रहा  है . ऐसा करने से आपका शरीर धीरे  धीरे  ठीक  होने  लगेगा 
 .
6. वैसे तो आप कभी भी Meditation कर सकते हैं . पर सुबह जल्दी ४-६ बजे तक का समय Meditation  के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है .

Meditation Techinque in Hindi For Beginners

आराम  से बैठकर  1-100 तक count करे . और यह क्रिया  दिन में 2-3 बार  करे. ऐसा  करने  से आपका mind Concentrate होगा.

Meditation Benefits in Hindi ध्यान के फायदे

1. Connected With God

2. Meditation से हम अपने ही Mind को शांत करते है .

3. कहा जाता है इंसान का दिमाग अपार शक्तियों का भंडार है . और Meditation के जरिये आप अपनी सोई हुई शक्तियों को बढ़ा सकते हैं .

4. महान Spiritual GuruOsho के अनुसार अगर आप अपने जीवन को पूर्णता से जीना चाहते हैं तो ध्यान करे .

5. ध्यान से आप तनाव मुक्त जीवन जीते हैं

6. आप अपने काम काम समय में पूरे कर सकते हैं

7. लोगो के नाम , अपनी daily life की ज़रूरत की चीज़े आसानी से यद् रख सकते हैं

8. शरीर ज़्यादा हेल्थी रहता है

9. नींद अच्छी आती है

10. students कम समय में अच्छी पढ़ाई कर पाते हैं .

11. ध्यान से आपका Confidence और concentration दोनों ही बढ़ते हैं.

12. आपको Meditation Techniques in Hindi कैसी लगी हमें Comment के द्वारा ज़रूर बताये| या आपके Meditation , Tension , stress , Depression se related questions ho to aap comments ke dwara hame bhej sakte hain ..ham apki samsyao ka samadhan karne ki koshish karenge . Dhanybad

13. अगर आपको यह Meditation  in Hindi पसंद आयी तो इसे facebook , Google+  पर share करना न भूले!

हमारे सभी हिन्दीविचार ब्लॉग  के पाठको का हम धन्यबाद करते हैं |


Tuesday, 6 March 2018

जाने ध्यान क्या है , कैसे करे , क्यों जरूरी है meditation in हिंदी



   


 दोस्तों ध्यान एक आसान तरीका है जिसके द्वारा हमारे जीवन में कई प्रकार की समस्याओं को काबू में किया जा सकता है , अब सवाल उठता है की ध्यान क्या होता है?..ध्यान या Meditation एक हिस्सा होता है हमारे जीवन का , इसे हमारे जीवन में जरूर apply करना चाहिए , क्योंकि जब हमें अपनी अंदर की आत्मा की शक्ति में कमी होने लगती है , तब हमारा स्वयं पर नियंत्रण हट जाता है और हम अपने आप को काबू में नहीं कर पाते है और कई ऐसी छोटी बड़ी गलतियां कर बेठते जिसका नुकसान हमारे साथ दूसरों को भी भुगतना पड़ता है जो की चिंताजनक विषय है 








              दोस्तों मेरे द्वारा आपको पिछले पोस्ट में आत्मविश्वास के बारे में बताया गया था , उसमे जिस शक्ति का आभास किया था उस शक्ति को हम ध्यान कहते है आत्मविश्वास को बढ़ाने का एक अहम हिस्सा meditation या ध्यान होता है परन्तु यहाँ हम आत्मविश्वास की बात नहीं कर रहे बात कर रहे ध्यान की , जब हमें हमारी अंतरात्मा की आवाज सुनाई नहीं देती है तब हमारा ध्यान अनियंत्रीत हो जाता है जिससे हम वो करने लगते है जैसे ईर्ष्या- हम दूसरों पर जलन करने लगते है , तनाव- हम इस दौरान काफी तनाव महसूस करते है , आलस्य- हम कोई भी काम करने में आलस्य करने लगते है , घमंड- हम अपने आप पर घमंड करने लगते है जो की हमारे लिए अच्छा नहीं होता है , लालच- हम किसी भी कार्य को लालच के साथ करने लगते है , क्रोध- हम अपने आप पर नियत्रित नहीं होते है और दूसरों पर हम गुस्सा करने लगते है , डर- जीवन में डर नाम की कोई चीज नहीं है फिर भी हम डरने लगते है , आदि कुकार्य करने लगते है जो की हमारे जीवन के लिए हानिकारक साबित होते है ! ध्यान क्या होता है- ध्यान के द्वारा हम अपने आप यानी , स्वयं पर नियंत्रण रखते यह self realization की एक विधि होती है जो हमारी जिंदगी में कई बदलाव लेकर आती है जिसके द्वारा हमारी life को खुशमय एवं आसान बना देती है ध्यान हमारी आत्मा को शुद्ध रखता जो की चिंतन का प्रमुख विषय है इसके करने से हमरा शरीर स्वस्थ होता है हम तनावमुक्त हो जाते है और कोई टेंशन भी नहीं होती है जिससे हमारा जीवन आसान हो जाता है  


ध्यान कैसे करे- अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा की ध्यान कैसे करे , दोस्तों आपको बताना चाहूंगा ध्यान को करने के लिए एक अच्छा समय होना चाहिए , इसके साथ एक अच्छा स्थान , गहरी साँस एवं शांत मन होना बहुत जरूरी होता है! आप इन नियमों का पालन करे! 
उचित समय- ध्यान की दृस्टि से देखा जाये तो हम यदि ध्यान सूर्योदय के समय करते है तो यह बहुत फायदेमन्द होता है आपको सुबह के समय ध्यान पर अपना मन केंद्रित करना चाहिए! 






उचित स्थान- आप कोई ऐसा स्थान चुने जो बहुत शांत हो जहां पर शोर कम हो ताकि आपको ध्यान में कोई असुविधा न हो इसके लिए आपको अपने मन को संत करके बैठना है एवं एकाग्रता पर अपना ध्यान केंद्रित करना है यानी आपको ऐसे विचारों के बारे में ध्यान या चिंतन करना है , जिनसे आपका सम्बंध हो यानि आपका ध्यान सिर्फ एक ही चीज पर केंद्रित होना चाहिए





आसन -आप पद्मासन या अपने हिसाब से अल्कि-पालकी बना कर बैठ सकते है! इसके बाद में आपको अपनी आँखों को बंद करना है फिर गहरी साँस लेना है और छोड़ना , अपना ध्यान अपनी सांसो की ओर केंद्रित कारना है और गहन चिंतन करना है अपने मन में सकारात्मक विचारों के बारे में सोचना है! ऐसी स्थिति में आपको सिर्फ अपने ध्यान में चिंतन करना है और कोई नकारत्मक विचार अपने मस्तिष्क में न होने चाहिए! आप इसके साथ कोई जाप भी कर सकते है या किसीका नाम अपने मन में दोहरा सकते है ऐसा आपको कम से कम 15 से से 20 मिनिट या आप इससे अधिक भी कर सकते है वैसे आप जितना अधिक समय तक करेंगे उतना ही अधिक लाभकारी होगा ! ध्यान की स्थिति में अपने दिमाग में वो सभी विचारों को अपने मस्तिष्क से निकाल दे जो आपके दिमाग में हर समय आते रहते है , जब आपका दिमाग पूरी तरह से खाली हो जायेगा तब आपके दिमाग में नए विचारों का आवागमन शुरू हो जायेगा! और यही विचार आपके लिए लाभकारी है .....यदि आपको अच्छा लगा हो तो share जरूर करे ...धन्यवाद् www.hindivichar597.online